पेड़ों की संरक्षण में युवाओं की भूमिका Pedo ki sanrakshan me yuvaon ki bhumika essay in hindi

Pedon ki sanrakshan me yuvaon ki bhumika - पेड़ पौधे मानव जीवन तथा पशु पक्षी के जीवन के लिए कितना महत्वपूर्ण है यह हर किसी को पता है पेड़ों का संरक्षण करना अभी के समय में अनिवार्य हो गया है क्योंकि जिस तरह से लोग अपने स्वार्थ के लिए जंगलों की अंधाधुंध कटाई कर रहे हैं ऐसे में कभी ऐसा समय आ सकता है कि पृथ्वी पर घने जंगलों का अस्तित्व बहुत कम हो जाए पर्यावरण पर इसका बहुत बुरा प्रभाव पड़ेगा इस प्रभाव को रोकने के लिए पेड़ों के संरक्षण में युवाओं की भूमिका बहुत कारगर साबित हो सकता है।

पेड़ों की संरक्षण में युवाओं की भूमिका, Ped Paudhe Ka Sanrakshan

पेड़ों की संरक्षण में युवाओं की भूमिका Pedo ki sanrakshan me yuvaon ki bhumika essay in hindi
ped paudhe ka sanrakshan

युवा पीढ़ी मिलकर कुछ भी कर सकते हैं देश के शहरी तथा ग्रामीण क्षेत्रों में लोगों को वन संरक्षण के प्रति जागरूक कर वनों की अंधाधुंध कटाई को काफी हद तक कम किया जा सकता है। शहरी क्षेत्र में वनों के संरक्षण के लिए  वन अधिकारी तत्पर रहते हैं पर ग्रामीण क्षेत्रों में लोग जब चाहे तब जंगल में जाकर  जलाऊ लकड़ी के अलावा कच्चे लकड़ी को भी घर ले आते हैं ऐसे में वनों का विनाश बढ़ता है इसके प्रति गांव तथा शहरों के लोगों को या उन लोगों को जिन्हें उचित शिक्षा नहीं दी गई है उन्हें युवा पीढ़ियों को समझाना चाहिए की पेड़ पौधे हमारे जीवन के लिए किस प्रकार फायदेमंद होते हैं साथ ही उन्हें प्रतिवर्ष वृक्षारोपण के लिए प्रोत्साहित करना चाहिए।


दुनिया में बहुत कम लोग हैं जो प्रतिवर्ष वृक्षारोपण करते हैं और उन लोगों की संख्या अधिक है जो प्रतिवर्ष ना जाने कितने पेड़ पौधे को काट देते हैं यह भविष्य के लिए विनाशकारी साबित हो सकता है वायु में कार्बन डाइऑक्साइड की मात्रा अधिक होने से व्यक्ति को कई प्रकार के रोग से ग्रसित होना पड़ सकता है, पेड़ पौधे हमें शुद्ध ऑक्सीजन देते हैं जो व्यक्ति के जीवित रहने के लिए अनिवार्य होता है, प्रदूषण बढ़ने का मुख्य कारण हमारे पर्यावरण में पेड़ पौधों की कमी होना भी है।


वृक्षारोपण के प्रति जागरूकता को बढ़ाने के लिए देश में वन महोत्सव मनाया जाता है तथा वृक्षारोपण को प्रोत्साहित किया जाता है स्कूलों में भी बच्चों को वृक्षारोपण करने के लिए कहा जाता है ठीक इसी प्रकार हमारी युवा पीढ़ी को भी वृक्षारोपण के प्रति अपने घर वालों अपने आस-पड़ोस के लोगों को कहना चाहिए यदि हर कोई इसका प्रचार प्रसार करेगा तो हर साल बहुत सारे पौधरोपण (वृक्ष) हो जाएगा जिससे हमें ही फायदा होगा। 


विश्व पर्यावरण दिवस कब मनाया जाता है? 

5 जून को विश्व पर्यावरण दिवस पूरे देश में मनाया जाता है तथा इसका उद्देश्य लोगों को वृक्षारोपण क्यों करना चाहिए यह बताना तथा वृक्षारोपण हेतु प्रोत्साहित करना होता है।


क्या वृक्षारोपण तथा वन संरक्षण द्वारा प्रदूषण को कम किया जा सकता है?

 जी बिल्कुल, वनों की अंधाधुंध कटाई की वजह से ही दुनिया भर में प्रदूषण की समस्या बढ़ती जा रही है अगर हमें प्रदूषण को नियंत्रण या कम करना है तो वृक्षारोपण करना जरूरी है।


अन्य निबंध भी पढ़ें

और नया पुराने